फ़िरोज़पुर के सैंट्रल ज़ैल में एक हवालाती की हुई मौत, 10 ग्राम स्मैक के केस में बंद था जेल में हवालाती प्रिंस

Firozpur Punjab
फ़िरोज़पुर (पंकज कुमार) फ़िरोज़पुर केंद्रीय जेल में बंद एक ओर हवालाती की मौत हो जाने के बाद फ़िरोज़पुर की केंद्रीय जेल एक बार फिर से अपनी कारगुज़ारी के चलते सवालों के घेरे में आ गई है जहाँ जेल प्रशाशन की तरफ से जेल में कैदियों के लिए हर तरह के अच्छे प्रबंधों के दावे हर बार किये जाते हैं, परन्तु जब किसी कैदी या किसी हवालाती की मौत होती है तब जाकर कही जेल प्रबंधों को लेकर जेल प्रशाशन की पोल खुलती दिखाई देती है 
 
वी.ओ.:- फ़िरोज़पुर केंद्रीय जेल  एक बार फिर से सवालों के घेरे में है, क्योंकि पिछले कुछ समय के दौरान यहाँ की जेल में कई कैदियों और हवालातीयो की मौत हो जाने की खबरें अक्सर ही सुर्खियों में रही हैं, जिसके चलते एक बार फिर से फ़िरोज़पुर की सैंट्रल जेल में एक ओर हवालाती की मौत हो जाने की ख़बर सामने आई है l दरअसल सुनने में यह आया है की फ़िरोज़पुर जिले के कस्बा मल्लांवाला के वार्ड न:- 5 का रहने वाला प्रिंस नाम का एक लड़का जिसकी उम्र तकरीबन 22 साल के करीब बताई जा रही है जोकि फ़िरोज़पुर की केंद्रीय ज़ैल में 10 ग्राम स्मैक के केस में हवालाती के तौर पर 10 दिन पहले ही ज़ैल में आया था, जिसके बारे में यह बताया जा रहा की उसे आज सुबह 5 बजे छाती में दर्द उठा जिस के बाद जेल प्रशाशन की तरफ से उसको आनन फानन में फ़िरोज़पुर के सिवल हस्पताल में इलाज के लिए लाया गया जहाँ उसकी मौत हो गई l
 
वी.यो.:- उधर मृतक हवालाती के परिवारिक सदस्यों का कहना है की उन्हें सुबह 10 बजे पुलिस मुलाजिमों ने उनके घर आकर सुचना दी की जेल में बंद हवालाती प्रिंस की मौत हो गई है जिन्होंने जेल प्रशाशन पर लापरवाही के दोष लगाते हुए उनके लड़के की जेल में अचानक हुई मौत की जांच करवाने की माँग की है 
बहरहाल पुलिस की तरफ से हवालाती की लाश का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है जिसकी लाश को उसके पारिवारिक सदस्यों को बाद में सौंप दिया जाऐगा l
 
ज़िक्रयोग्य है की यह कोई पहला मामला नहीं है जब फिरोज़पुर की केंद्रीय जेल में किसी हवालाती की मौत हो जाने की खबर सामने आई है इससे पहले भी अनेको बार कई केदियो और हवालातियों की मौते यहाँ जेल में हो चुकी है जिसके बाद फिर से यह सवाल उठता है की क्या राज्य की सभी जेलों में बंद केदियो की सेहत से जुड़े विशेष चिकित्षक मौजूद है और क्या केदियो व हवालातियों के लिए हमारी जेलों में उनके रहने के लिए बेहतर प्रबंध किये जाते है जैसा दावा हमारी जेल प्रबंधन हर बार किसी बड़े नेता या वीआईपी के आने पर अपनी साख बचाने के लिए करता है l 

Leave a Reply