सरकारी खरीद एजेंसियों ने मंगलवार को डीसी आफिस के पास धरना देकर राच्य सरकार को कोसा।

Mansa


मानसा (अमरजीत सिंह ) सरकारी खरीद एजेंसियों की ओर से खरीदी गई धान की फसल के पैसे किसानों को तुरंत देने की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां ने मंगलवार को डीसी आफिस के पास धरना देकर राच्य सरकार को कोसा।
एक- अकेला किसान ही है जिसे फसलों के कम भाव देकर मंडियों में लूटने के बाद भी फसल की अदायगी समय सिर नहीं होती। उन्होंने किसानों की बनती रकम तुरंत जारी करने की मांग की ताकि किसान अपनी अगली फसल समय सिर संभाल सकें।
खरीद किए गए धान की अदायगी देने के बजाय किसानों को आए दिन बहाने बाजी से टरकाया जा रहा हैं। खरीद करते समय पंजाब सरकार ने दावे किए थे कि धान की फसल की अदायगी किसानों को 48 घंटे के अंदर हर हाल में की जाएगी लेकिन अब फसल बेचने के सवा माह से अधिक समय गुजरने के बावजूद किसानों को उनकी फसलों के पैसे नहीं दिए गए है। उन्होंने दावा किया कि खरीद एजेंसियों की तरफ किसानों के कई हजार करोड़ रुपये बकाया पड़े हैं जिसकी तरफ पंजाब सरकार कोई ध्यान नहीं दे रही। किसानों को अपनी पैदा की वस्तु को बेचने के बाद उसकी अदायगी लेने के लिए धरने प्रदर्शन करने को मजबूर होना पड़ रहा है।
लगभग 1050 करोड़ का धन खिद हो चूका है दो लाख ऍम टी पहले से जादा खरीद होने के कारन पेमेंट डले हुई है लेकिन डी सी साहिब की सकत्तर फ़ूड एंड सप्लाई से बात हुई है बाकि पेमेंट बी जल्द ही हो जाएगी

Leave a Reply