खजुराहो नगर परिषद का भ्रष्टाचार।

Madhya Pradesh खजुराहो

खजुराहो(निर्णय तिवारी)प्रदेश में पारदर्शी स्वच्छ और ईमानदार छवि का दावा करने वाली सरकार के सुशासन का उदाहरण है खजुराहो नगर परिषद का भ्रष्टाचार।
मध्यप्रदेष सरकार जहाॅ एक ओर पूरे भारत को डिजीटल करने के उददेष्य से प्रयासरत है। और प्रत्येक नागरिको को डिलीटल इंडिया से जोड़ने के लिये जनमानस की महत्तपूर्ण आवष्यकताओं में आधार और समग्र आई डी को अनिवार्य कर दिया है। पर नगर पंचायत के कुछ कर्मचारी प्रषासन की छवि को बदनाम करने में कोई कसर नही छोड़ रहे है। जिसका बास्तविक स्वरुप समय समय पर देखने को मिल ही जाता है। खजुराहो नगर पंचायत में जन्म – मृत्यु प्रमाण पत्र, समग्रआई डी,  राषन कार्ड आदि बनवाने के लिये जनमानस को महिनो चक्कर लगाने पड़ रहे है। इन सब मे भी इन्हे रिष्वत चाहिये। नही तो इधर – उधर महीनो चक्कर लगवाते है। मध्यप्रदेष सरकार के अनिवार्य किये आधार, मृत्यु, जन्म प्रमाण पत्र, राषन कार्ड, वोटर आई डी के लिये चक्कर पे चक्कर लगवाकर वेवजह परेषान किया जा रहा है। जबकि शासन के नियम अनुसार ये सभी कार्य जनमानस को उनके  घर घर उपलब्ध कराने के आदेष है। परन्तु खजुराहो नगर पंचायत ने शायद म.प्र. सरकार के नियमो को ताक पर रखकर कामकर रहा है । और शासन कों भरम में डाल रखा है। अतः शासन के उच्चअधिकारियों केा चाहिये कि ऐसे भृष्ट कर्मचारियो पर पूर्णविराम लगाये। जिससे इन आधार भूत समस्याओं से आम जनता केा राहत मिले एवं भृष्ट कर्मचारियों को शासन प्रषासन का भय बना रहै।

Leave a Reply