शहर के ऐटीएम मशीने चल रही है भगवान् के भरोसे :-

Madhya Pradesh खजुराहो

खजुराहो (निर्णय तिवारी) विश्व पर्यटन नगरी और चंदेलों की राजधानी खजुराहो में अभी शांस्कृतिक फेस्टिवल हुए मात्र कुछ दिन ही बीते है और प्रशासन भी खजुराहो में पर्यटकों की संख्या को अधिक से अधिक बढ़ावा देने के उद्देश्य से पूरा प्रयास कर रहा है लेकिन खजुराहो में लगे ये ऐ टी एम पर्यटको को सुबिधा की जगह मायूसी बाँट रहे है कहने को तो यहाँ कई ए टी एम है पर सब के सब सोपीश साबित हो रहे है । फेस्टिवल के बाद मतंगेश्वर के महाशिवरात्रि के मेले में आ रहे पर्यटक या आम ग्रामीण वाशियो को मेले में किसी भी प्रकार की खरीदारी के लिए या सामान के लिए ऐ टी एम् मशीनों का सहारा लेना होता है जानकारी हो की कुछ  महीनो पहले हुई नोेटबन्दी से लोगो के पास पैसा एकत्रित हो पाना मुनाशिब ही नहीं है पर मेले में जरूरी चीज़ों की खरीद के लिए उन्हें बैंक कर्मचारियों द्वारा  इधर से उधर और उधर से इधर चक्कर कटवाने में कोई कमी नहीं रखी जा रही है जानकारी लेने पर पता चला की जो ग्रामीण व असहाय लोगो के नए खाते खोले गए है उनको अपने ऐ टी एम कार्ड का पिन लेने के लिए उन्हें भी ऐ टी एम मशीने द्वारा जनरेट करने को कह कर भेज दिया जाता है और वह कोई भी गार्ड न होने के कारण वे इससे उससे पूछते फिरते है जिससे उनके साथ धोके की भी गुंजाइस प्रबल हो जाती है और यदि कोई घटना होती  है तो इसमें कोई भी आश्चर्य करने की बात न होगी खजुराहो  के कई एटीएम मशीनो में बैंक प्रबंधन द्वारा सुरक्षा के लिए कोई इंतजाम नहीं किये गए है। मेला ग्राउंड के करीब  गोल मार्किट में स्थित  बैंके के एटीएम में बैंक प्रबंधन द्वारा गार्ड तो लगाया गया है लेकिन वह महीने में सायद ही एक दो बार ही नजर आता है। जिसके चलते यह एटीएम कचरा दान बनकर रह गया है।

Leave a Reply