कलयुगी पति ने दहेज़ के लालच में अपनी ही पत्नी पर फेंका तेज़ाब (विडिओ)

Ludhiana Punjab

लुधियाना (जसवीर जस्सी )  लुधियाना  में एक कलयुगी पति ने दहेज़ के लालच में अपनी ही पत्नी पर तेज़ाब से हमला कर दिया. इस हमले के बाद पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गई और उसे उपचार के लिए स्थानीय सरकारी अस्पताल में दाखिल करवाया गया है. आरोपी पति अपने ससुराल से एक लाख रूपये और एक एलसीडी टीवी की मांग कर रहा था लेकिन मांग पूरी होते ना देख उसने अपने भाई के साथ मिलकर पत्नी को ही ठिकाने लगाने की साज़िश रच डाली. कुदरत का करिश्मा था कि पत्नी बच गई और अब दोनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में हैं.

आप अपनी टीवी स्क्रीन पर जिस पीड़ित महिला को जखमीं हालत में अस्पताल के बिस्तर पर लेटे हुए देख रहें हैं इस पीड़ित महिला को उसके ही कलयुगी पति ने दहेज़ के लालच में तेज़ाब (एसिड) से हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया और उसे अधमरी और बेसुध हालत में मेहरबान के एक खाली प्लाट में मरने के लिए छोड़ दिया. वहां से गुज़र रही एक राहगीर महिला ने इस 23 वर्षीय पीड़ित रंजना देवी की मदद कर किसी तरह से अस्पताल पहुँचाया और उसके घरवालों को ख़बर भी की. पीड़ित महिला के मुताबिक उसकी शादी 2014 में लुधियाना के नामदेव कॉलोनी के रहने वाले रवि कुमार से हुई और शादी के बाद उसके पास अब तीन महीने का बच्चा भी है. पेशे से एक फैक्ट्री में प्रेसमैन के रूप में कार्यत उसके पति रवि द्वारा अक्सर दहेज़ के लिए उसे प्रताड़ित किया जाता था और मार पिट की जाती थी लेकिन इस बार तो उसके पति ने हद ही कर दी और उसपर अपने भाई की मदद से पिटाई के साथ साथ तेजाबी हमला कर उसके गंभीर रूप से घायल कर उसे अधमरी और बेसुध हालत में घर से दूर मेहरबान इलाके के एक खाली प्लाट में मरने के लिए छोड़ दिया.

.मूलरूप से उत्तर प्रदेश के फतेहपुर निवासी पीड़ित रंजना के पिता सूरज भान को जैसे ही इस बात की खबर मिली तो वो तुरंत ही लुधियाना आ पहुंचा और उसने बताया के उसे उसके दामाद ने फ़ोन पर यह सुचना दी थी के रंजना कहीं चली गई है जबकि असल बात उसे यहाँ आकर पता चली के उसके दामाद ने ही उसकी बेटी को दहेज़ के लालच में आकर जान से मारने की कोशिश की.

उधर पुलिस ने सुचना मिलने पर अस्पताल में दाखिल पीड़ित महिला के ब्यान लेकर अपनी कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी और उसके आरोपी पति रवि कुमार और उसके भाई रजत कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस का कहना है कि पहले पहल आरोपी पति द्वारा पुलिस को अपनी पत्नी के बारे गुमशुदगी की सुचना देकर गुमराह किया जा रहा था लेकिन जैसे ही पुलिस को असल सच्चाई का पता लगा तो उसने दोनों आरोपियों को अपनी हिरासत में ले लिया और अपनी आगे की कानूनी प्रकिरिया में जुट गई है.

Leave a Reply