पतंजलि के खाद्य पदार्थो पर सेहत विभाग की टीम का छापा (विडिओ)

Firozpur Punjab

फिरोजपुर (पंकज कुमार) आमतौर पर बाजारों में बिकने वाले वाले खाद्य पदार्थ किसी नामी व्यक्ति, कम्पनी या फिर उसके बारे में दिखाए जाने वाले विज्ञापनों के माध्य्म से काफी लोकप्रिय हो जाते है जिनकी बिकी बाजारों में जोरो शोरो से शुरू हो जाती है जिसे ग्राहक भी विज्ञापन में दिखाए गए उत्पाद की गुणवत्ता के आधार पर उसे बाजारों से खरीद लेता है लेकिन कभी कभी देखा गया है की जो असल में दिखाया जाता है वह दरअसल होता नही है ठीक इसी तरह का एक मामला सामने आया है पंजाब के जिला फ़िरोज़पुर से जहा योग गुरु बाबा रामदेव जैसे नामी हस्तियों के खाद्य पदार्थो को बनाने वाली कम्पनी पतंजलि के खाद्य पदार्थो पर गुणवत्ता में कमी होने के सवाल खड़े होने लगे है क्या है 
  योग गुरु बाबा रामदेव और उनकी कम्पनी पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड को कोण नही जानता बाबा ने योग और आयुर्वेदिक उत्पाद के उत्पादन से जहा अपना सफर शुरू किया वही पतंजलि के खाद्य पदार्थ को गुणवत्ता के आधार पर बाजारों में उतारकर अपना कारोबार भी जोरो शोरो से शुरू किया l बाबा रामदेव योग के क्षेत्र में सफलता पाने के बाद अब बिज़नेस में बहुत आगे बढ़ चुके हैं. आज पतंजलि का कारोबार 5000 करोड़ तक पहुंचना इस बात की स्पष्ट तौर पर पुष्टि भी करता है. की पतंजलि का कारोबार विश्व की इस अस्थिर आर्थिक हालत में भी लगातार बढ़ता ही जा रहा है लेकिन अपनी गुणवत्ता के लिए जाने, जाने वाले पतंजलि के उत्पाद की गुणवत्ता पर अब अपने आप में ही सवाल खड़े होने लगे है जिसकी ताजा मिसाल सामने आई फ़िरोज़पुर छावनी में  बिक रहे पतंजलि उत्पादकों की एक दुकान पर जहा दिनों एक ग्राहक ने पतंजलि के शहद की गुणवत्ता पर सवाल खड़े करते हुए उसकी शिकायत फ़िरोज़पुर के सेहत विभाग से कर डाली जिसके बाद सेहत विभाग ने उसकी शिकायत पर कार्यवाही करते हुए उक्त दुकान पर छापा मारते हुए दुकान व उसके गोदाम में रखे पतंजलि के खाद्य पदार्थो के सेम्पल भर लिए जिसे लेब में जांच के लिए भेजा जायेगा l वही दूसरी तरफ पतंजलि के उत्पाद की गुणवत्ता पर सवाल उठाते हुए दुकान से पतंजलि का शहद खरीदने वाले ग्राहक का कहना था की उसने 250 ग्राम पतंजलि का शहद ख़रीदा था जिसे घर ले जाने के बाद उसने खोला तो उसके बाद वह जम गया l 
 वही सेहत विभाग के अधिकारी ने पतंजलि के खाद्य उत्पादों के सेम्पल भरते हुए जानकारी देते हुए बताया की उन्होंने यह कार्यवाही एक ग्राहक की शिकायत मिलने पर की है वही उन्होंने बताया की उक्त दुकानदार के पास फ़ूड प्रोडक्ट्स बेचने का लाइसेंस भी नही था जिन्हें जरूरी निर्देश दे दिए गए है 
 वही दूसरी ओर दुकान मालिक ने बताया की हमने यह उत्पाद पीछे से जैसे डब्बा बन्द आया था वैसे ही ग्राहक को दे दिया था 
बहरहाल सेहत विभाग की टीम ने दुकान और उसके गोदाम से पतंजलि के शहद के इलावा कई और दूसरे उत्पादों के सेम्पल भरकर उसकी जांच के लिए भेज दिए है और साथ ही उक्त दुकानदार को बिना लाइसेंस के इन उत्पादों की बिक्री पर रोक लगाते हुए बिना लाइसेंस इसकी बिक्री न करने के निर्देश दे दिए है  l फ़िरोज़पुर से पंकज कुमार की रिपोर्ट—

Leave a Reply