अटारी बार्डर ट्रक ऑपरेटर यूनियन ने किया चक्का जाम (विडिओ)

Amritsar Punjab


अमृतसर (सनी सहोता / मुकेश मेहरा ) अटारी बार्डर ट्रक ऑपरेटर यूनियन ने अध्यक्ष हरिंदर सिंह लाली के नेतृत्व में बैठक कर यूनियन ने मांगों को लेकर पूर्ण रूप से चक्का जाम करने का एलान किया है। यूनियन से जुड़े ट्रांसपोर्टर, ट्रक चालक, सहायक और कारोबारी पारिवारिक मैंबरों के साथ सोमवार से सड़क पर उतरेंगे। यूनियन ने चेतावनी दी कि अगर उनकी मांगों को न माना तो 900 के करीब ट्रक अमृतसर से अटारी रोड पर खड़ा कर ट्रकों की चाबियों को प्रशासन को सौंप देंगे।
यूनियन के अध्यक्ष लाली ने ट्रेडर और ट्रांसपोर्ट कारोबारी गुरसाजन सिंह बेदी पर भारत-पाक कारोबार को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि बेदी असमाजिक तत्वों से मिलकर बार्डर पर रहने वाले 18000 लोगों को आर्थिक नुकसान पहुंचाने की कोशिश करने में लगे हैं। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट द्वारा ट्रांसपोर्ट कारोबार को लेकर दी गई हिदायतों को लागू करने की मांग की गई।

इस मौके पर यूनियन के हरिंदरपाल सिंह, परमिंदरराज सिंह, गुरबिंदर सिंह सिद्धू, प्रितपाल सिंह आदि ने कहा कि अटारी ट्रक यूनियन 38 सालों से सुप्रीम कोर्ट की शर्तो के अनुसार बार्डर पर कारोबार कर रही है। लेकिन 2016-17 से बीएसबी इंपोर्ट एक्सपोर्ट की कमान गुरसाजन बेदी ने अपने हाथ में ली है। वह ईस्ट इंडिया कंपनी की तरह सारा कारोबार पर कब्जा कर 18000 लोगों की रोटी रोजी छीनना चाहते हैं। गुरसाजन सुप्रीम कोर्ट की हिदायतों को अनदेखा कर दूसरे ट्रांसपोर्ट व्यापारियों से धक्का कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कई बार वह मामला पुलिस व सिविल प्रशासन के पास ले जा चुके हैं लेकिन कभी भी बेदी हाजिर नहीं हुआ। उन्होंने पंजाब के सभी कारोबारियों के हड़ताल में साथ देने की अपील करते कहा कि कोई भी ट्रांसपोर्टर अटारी में ओवरलोड सामान भरने के लिए अपना ट्रक न भेजें। यूनियन ने चेतावनी दी कि अगर उनकी मांगों को न माना गया तो संघर्ष को तेज किया जाएगा।

>उधर, इस बारे में जब गुरसाजन बेदी और व्यापारी अनिल मेहरा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि 10 फरवरी 2017 से अटारी ट्रक यूनियन ने वीएसबी की गाड़ियों को रोका था। जिसको लेकर वीएसबी ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर सारा मामला उनके ध्यान में लाया था। वहीं एसएसपी रूरल को भी शिकायत की थी। इस पर पुलिस ने बीएसबी की गाड़ियों को आईसीपी चेक पोस्ट से भेज दिया था। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट के आदेशों पर ही गाड़ियां इंटीग्रेटिड चेक पोस्ट से माल लोड व अनलोड कर रही हैं। भारत पाक कारोबार पर अटारी यूनियन अडंगा लगा रही है जिससे दोनों देशों के बीच चल रहा व्यापार बंद होने की कगार पर है, दोनों देशों को प्रतिदिन करोड़ों का नुकसान हो रहा है।

Leave a Reply