गांव रोड छप्पर में दो दिन से चल रहे कब्बडी कप में फाइनल में जींद ने की हांसिल जीत (विडिओ )

Haryana yamunanagar

 यमुनानगर (लोकेश कुमार ) यमुनानगर के गांव रोड छप्पर में दो दिन स ेचल रहे कब्बडी कप में फाइनल में रोहतक और जींद के बीच में कडा मुकाबला हुआ और इस फाइनल में जींद ने जीत हांसिल की जबकि पंजाब की टीम क्वाटर फज्ञइनल में ही बाहर हो गई थी वही इस कब्बडी कप में यहा जीती हुई टीम को इनाम देकर सम्मानित किया तो वही इस मैच में बेहतर प्रदर्शन करने वाले खिलाडियों को भी बाइक देकर सम्मानित किया और यह सब काम रोड छप्पर गांव की पंचायत ने ही किया

एक  युवा नश से दूर रहे और देश के लिए कुछ करे यह ज्जबा अब युवाओ के मन में भी पैदा हो रहा है और ऐसे में अब हरियाणा में अलग अलग जगह खेल प्रतियोगिता भी होने लग गई है और इन खेलों की जिम्मा भी गांव की पंचायते ही कर रही है और इस कडी में दो दिन से यमुनानगर के गांव रोड छप्पर में चल रही बाबा दीप सिंह स्पोटर्स कब्बडी कप प्रतियोगिता में कुल 35 टीमों ने भाग लिया था जिसमें महिला खिलाडियों ने भी अपना दम खम दिखलाया था लेकिन महिलाओं की टीम ज्यादा न होने के कारण उनके मैच ज्याद नही हो पाए जबकि पुरूष वर्ग की टीमों ने मैदान में खूब दम दिखाया और ऐसे में दर्शकों का भी तांता  दो दिन तक लगा रहा  कल के मुकाबला देर रात तक चलता रहा और इस कडे मुकाबले में रोहतक और जींद की टीमे ही फाइनल में पहुंची जिसमें जींद ने इस बाबा दीप सिंह स्पोस्र्ट कब्बडी कप पर कब्जा कर लिया हालाकि क्वार्टर फाइलन में हिसार और पंजाब की टीमे पहुची लेकिन यहा से पंजाब को बाहर कर रास्ता देखना पडा जबकि सेमी फाइनल में रोहतक करनाल और हिसार जींद के बीच मुकाबला हुआ और ऐसे में जींद और रोहतक के दमदार खिलाडी ही फाइनल में पहुंचे यहा रोहतक को जींद ने पटखनी देते हुए कप पर कब्जा कर लिया हालाकि मुकाबला का फाइनल होते होते होते रात हो गइ थी लेकिन दर्शको का भी देर रात तक तांता मैदान मत्रपर ही लगा रहा

दो  इस मैच को लेकर गांव रोड छप्पर की पंचायत का अहम योगदान रहा और इस मैच को खिलवाने के लिए पंचायत ने अपने पास से ही इन मैचों को कराया यहा तक कि खिलाडियों के रहने खाने पीने और उन्हे ंइनाम की राशी देने के लिए भी स्वय ही काम किया बात दे  खेल के फाइनल में पहुची जींद की टीम को 71 हजार रू रोहतक को 51 हजार रू इनाम के तौर पर दिए जबकि बेस्ट रेडार विनय खत्री को एक बाइक और बेस्ट कैचर के तौर पर सोनू को एक बाइक देकर सम्मानित किया और यह सब इस लिए कि युवा इधर उधर भटक कर गल्त आदतो में न पड जाए और यवुा नशों से दूर रह कर अपने शरीर को स्वास्थ्य रखे और खेलों में भाग लेकर देश के लिए कुछ कर दिखाए यही सपना पंचायत का था और इसी के चलते पंचायत ने यह खेल करवाए

Leave a Reply