बिलासपुर में खुली प्रदेश सरकार के स्वस्थ्य सुविधायों की पोल

Bilaspur Himachal Pradesh Uncategorized


बिलासपुर (रिशु प्रभाकर ) हिमाचल प्रदेश के जिला बिलासपुर में खुली प्रदेश सरकार के स्वस्थ्य सुविधायों की पोल मलोखर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पेश आया मामला; अस्पताल में पांच बेड, 25 की नलबंदी; और ऑपरेशन के बाद ठण्ड के इस मौसंम में फर्श पर महिलायों को लिटाया परिजनों ने सीएम से मांगी जांच  हलाकि केंद्रीय स्वस्थ्य मंत्री जेपी नड्डा के गृह जिला की हैं ये तस्बीर जो की हैरान कर देने बाली हैं सिर्फ एक खुले हाल में फर्श पर एक दरी और उस पर लेटा ऑपरेशन करने के बाद महिलायों को अगर हॉस्पिटल में बेड़ कम थे तो स्वस्थ्य बिभाग जो सुविधायों के बड़े बड़े दाबे करता हैं महिलायों के लिए इस ठंड के मौसम में कम से कम गद्दों की ब्यबस्था तो कर सकता था लेकिन बिभाग नेगद्दों की भी ब्यबस्था नहीं की जिससे छोटे छोटे बच्चों के साथ ऑपरेशन करबाने आई महिलायों को काफी परेसान होना पड़ा जिससे परिजनों ने स्वस्थ्य
उलेखनीय हैं की प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मलोखर में  स्वास्थ्य विभाग द्वारा महिलाओं के नलबंदी के आपरेशन रखे गए थे। हालांकि स्वास्थ्य केंद्र में सिर्फ पांच बेड की ही सुविधा है, लेकिन इसके बावजूद विभाग की ओर से आए डा. एके शर्मा द्वारा 25 महिलाओं के आपरेशन कर दिए गए। पहली पांच महिलाओं को आपरेशन के बाद पांच बेडों पर लिटा दिया गया। उसके बाद आपरेशन करवा कर आती रही महिलाओं को फर्श पर लिटाया जाने लगा। हैरत की बात यह रही कि फर्श पर लिटाई जाने वाली महिलाओं को विभाग द्वारा जमीन पर बिछाने के लिए गद्दे तक उपलब्ध नहीं करवाए गए। इसके चलते महिलाओं के साथ वहां पहुंचे उनके परिजनों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। विभाग की इस व्यवस्था से खिन्न एक महिला के पति नंदलाल ने बताया कि आपरेशन के बाद उनकी पत्नी को जमीन पर लिटा दिया। उन्होंने बताया कि ऐसे में अगर ठंड लगने से उनकी पत्नी की सेहत पर कोई बुरा असर होता है तो उसका जिम्मेदार कौन होगा। विभाग द्वारा फर्श पर बिछाई गई एक पतली और छोटी दरी पर चार-चार महिलाओं को लिटाया जा रहा ह  महिलायों के परिजनों ने मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, जिला प्रशासन  से इस सारे मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

Leave a Reply