आखिर क्यों की सरहद पर तेनात जवान ने की खुदकुशी देखे यह विडिओ

Mansa Punjab


मनसा (अमर्जीत सिंह )देश के बार्डर पर  ड्यूटी कर रहे आर्मी के जवानांविच खुदकुशी करन की घटनाएँ को ले कर काफ़ी विस्तार हो रहा है। इसी तरह ही बुढलाडा के नज़दीक गाँव गुरने कलों के जंमपल48 बटालियन विच 2006 में भरती हुए नौजवान इकबाल सिंह की तरफ से खुदकुशी किये जाने का मामला सुरक्षा में है।

बताने योग्य है कि इकबाल सिंह मधुवनी के नगौर कैंप विच जय नगर में बार्डर और अपनी कंपनी समेत तैनात था । जिस की तरफ से आर्मी के आधिकारियों के कहने मुताबिक बीती 21 तारीख़ को प्रातःकाल 6बजे अपनी रायफल के साथ खुदकुशी कर ली। जिस की मृतक देह को आज उसके जद्दी गाँव गुरने कलाँ में ला कर सरकारी सम्मान सहित आर्मी की टुकड़ी की तरफ से सलामी देने उपरांत उसका संस्कार किया गया।

उधर दूसरे तरफ़ परिवार के सदस्यों के बताने मुताबिक इकबाल सिंह की खुदकुशी के मामले को शकी बताते कहा कि इकबाल सिंह ऐसा नहीं कर सकता। ज़रूर उस के साथ कोई वारदात हुई है।

इस पूरे मामले को ले कर जब आर्मी अफ़सर सुनील जे.डी के साथ बातचीत की गई तो उन कहा कि बार्डर और समगलिंग ज़्यादा होने के कारण जवानों को ड्यूटी ज़्यादा करनी पड़ती है। ड्यूटी के बोझ और चलते यह घटना घटी है। साथ ही ड्यूटी अफ़सर सुनील जे.डी ने कहा कि 2दिन पहले इकबाल सिंह की तरफ से उन को बर्फ़ी भी छीना झपटी गई थी और वह काफ़ी खुश था  परंतु इकबाल के घर वालों की तरफ से लगाए गए दोषों के सम्बन्ध में सुनील जे.डी. कोई ठोस जवाब देने से बचते नज़र आए।

संसकार दौरान पहुँचे डी.ऐस.पी. गुरप्रीत सिंह ने मीडिया के साथ बातचीत दौरान कहा कि मृतक इकबाल सिंह का परिवार कल शाम को उन को मिला थी उन्हों ने कहा कि इकबाल सिंह की मौत की तस्वीरों से यह नहीं लगता है कि इसने आत्महत्या की है। परिवार वालों ने यह भी कहा है कि वह हँसता खेलता ही कुछ दिन पहला छुट्टी काट कर गया था। उन प्रशाशन से इस मामलो की जांच करवाने की माँग भी की है।

Leave a Reply