350वे प्रकाश पर्व पर एसजीपीसी की ओर से आलौकिक नगर कीर्तन ” देखे विडियो”

Amritsar Punjab

दशम पिता गुरु गोबिंद सिंह के 350वे प्रकाश पर्व पर एसजीपीसी की ओर से आज एक आलौकिक नगर कीर्तन का आयोजन किया गया। दोपहर करीब 12 बजे श्री अकाल तख्त साहिब से पांच प्यारों की छत्रछाया में निकला यह नगर कीर्तन शहर के विभिन्न इलाकों से होता हुआ वापस श्री अकाल तख्त साहिब पर आकर संपन्न हुआ। रास्ते भर में श्रद्धालुओं की ओर से लंगर प्रसाद का वितरण किया गया। इसके अलावा स्कूली बैंड और गतका पार्टियों ने अपने करतब दिखा कर श्रद्धालुओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। 

 सिखों के दसवें गुरू दशम पिता गुरु श्री गुरू गोबिंद सिंह के प्रकाश पर्व के मौके पर एसजीपीसी की ओर से एक आलौकिक नगर कीर्तन सजाया गया। श्री अकाल तख्त साहिब से दोपहर करीब 12 बजे पांच प्यारों की छत्रछाया में निकला नगर कीर्तन शहर के विभिन्न इलाकों से होता हुआ वापस श्री अकाल तख्त साहिब पर संपन्न हुआ।

रास्ते भर में श्रद्धालुओं का अथाह सैलाब नगर कीर्तन का स्वागत करता रहा। इस दौरान श्रद्धालु नगर कीर्तन के रास्ते की खुद सफाई करते दिखाई दिए। इतना ही नहीं, रास्ते में श्रद्धालुओं की ओर से लंगर का प्रबंध भी किया गया। श्री हरमंदिर साहिब के हेडग्रँथि जत्थेदार ज्ञानी रघुबीर सिंह ने कहा कि गुरु साहिबान ने जाति-पाति का विरोध किया था और सिख कौम को नशों से दूर रहने के लिए प्रेरित किया था। उन्होंने कहा कि आज की युवा पीढ़ी को भी गुरु साहिबान की ओर से दिखाए गए रास्ते पर चलते हुए नशों का त्याग करना चाहिए।

 

Leave a Reply