बैंक मैं खुल रहे है फर्जी अकाउंट”देखे विडियो”

News Delhi

नोटबंदी के बाद से ही धनकुबेर को सरकार लगातार उजागर कर रही  जहाँ आम लोग नई नगदी को तरस रहे वहीँ बैंक अधिकारियो की मिलीभगत से धन कुबेरों को करोडो की नगदी मुहैया कराई जा रही जहा रोज नए खुलासो के साथ बांको की शाख को बट्टा लग रहा है दिल्ली के एक और बैंक में नोट बंदी के बाद बचत खाते को लेकर हुआ खुलासा पुलिस ने मलमल दर्ज कर जांच की शुरू

बैंको की मिली भगत से नई नगदी मुहैया कराई जा रही जिसके रोज नए खुलासे हो रहे और गिरफ्तारी भी हो रही एक ऐसे ही बैंक  में एक और खुलासा हुआ है मामला दरयागंज के जैन को-ओपरेटिव बैंक का है जहाँ विनय जैन नाम के शख्स की गवाही पर 9 खाते खुले जिसकी सुचना उन्हें थी ही नहीं सभी खाते नोटबंदी के बाद खुले है लिहाजा ये सभी खाते फर्जी गवाही पर खोले गए  मामले का पता तब विनय जैन पूर्वी दिल्ली के गाँधी नगर इलाके में रहते है और पिछले पांच वर्षो से जैन को-ओपरेटिव बैंक में अकाउंट होल्डर है

नोटबंदी के कुछ ही दिन बाद जब वह किसी काम से बैंक पहुचे तो काउंटर पर पड़े फॉर्म पर अपना मेम्बरशिप नंबर देख कर चोक गए फॉर्म नए अकाउंट खोलने के लिए भरे गए थे यही नहीं उनके जाली दस्तख्त भी किए गए थे जब उन्होंने बैंक में शिकायत कर पता किया की उनकी गवाही पर कितने खाते खोले गए है तो जवाब पाकर उनके पैरो टेल जमीन खिसक गई बताया गया की उनकी गवाही पर 9 खाते खोले गए है जिसके बाद तुरंत विनय जैन ने दरियागंज ठाणे में शिकायत जिसके बाद 26 दिसंबर को धारा 420/468/471/120बी34 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है वहीँ बैंक पर कई सारे सवाल खड़े हो गए की आखिर बिना किसी की मिलीभगत के इतनी बड़ी जाल साजी कैसे मुमकिन हो सकती जिसके जवाब आने वाले समय में बैंक को देने होंगे

Leave a Reply