महिलाएं और बच्चे भी इस भूख हड़ताल पर बैठे… देखे विडियो

News Delhi

58 बेघर किये हुए परिवार के लोगों ने नागर विमानन मंत्रालय के बाहर अपनी मांगों को लेकर पिछले 15 दिनों से कड़ाके की सर्दी में   भूख हड़ताल पर बैठा हुआ है , बड़ी संख्या में महिलाएं और बच्चे भी इस भूख हड़ताल में शामील है ,15 दिन बिताने के बाद भी  सरकार की तरफ से अभी तक कोई भी इनको  पूछने तक नही आया। दिल्ली हाई कोर्ट एवं उप राज्यपाल के आदेश के बाद भी इनको इनकी जमीन नही मिल रही है ।

हांथो में तख्तियां एवं एयर पोर्ट ऑथोरिटी हाय हाय एवं सरकार के खिलाफ नारे  लगाते और  ये लोग नागल देवात के रहने वाले हैं इनका आरोप है कि 2007 में कॉमन वेल्थ गेम के समय जब T3 टर्मिनल बन रहा था उस समय सरकार ने इनसे इनकी जमीन लेली जीस जमीन पर ये लोग खुद रह रहे थे और सरकार ने इनसे वादा किया था कि जमीन के बदले जमीन दिया जाएगा।ये लोग भी देश हीत में चुकी दिल्ली में उस समय कॉमन वेल्थ गेम होना था और देश विदेश के खिलाड़ी इसी एयर पोर्ट पे उतरने वाले थे। इन लोगों ने सरकार की बात मानकर अपना घर बार छोर कर इधर उधर किराए पर रहने लगे।लगभग चार सौ घरों को वहां से हटाया गया था जिसमे से दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश के बाद तीन सौ अरतालिश परिवारों को दूसरे जगह जमीन दी गयी लेकिन 58 परिवारों को जमीन नही दी गयी जो अनुसूचित जाति से आते हैं। ये परिवार अब एयर पोर्ट ऑथरिटी के पास दौड़ना शुरू किया लेकिन वहां से उन्हें कोई संतोष जनक जबाब नही मिला थक हार कर ये लोग दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखाटाया एवं तत्कालीन दिल्ली के उप राज्यपाल के पास गए दोनों जगह से उन्हें आदेश मिल गया कि बाकी इन परिवारों को भी जमीन दी जाय लेकिन एयर पोर्ट ऑथरिटी उस आदेश को अनसुना करते हुए उन्हें जमीन नही दे रही है। ये लोग दिल्ली के मुख्य मंत्री एवं प्रधानमंत्री के अलावा कई राजनेताओं से भी अपील की लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नही हुई है। अब थक हार कर ये परिवार अपने बच्चों के साथ इस सर्दी में नागर विमानन मंत्रालय के बाहर भूख हड़ताल शुरू कर दी है और धमकी दी है कि इनकी मांगे जबतक नही मानी जायेगी तबतक ये लोग भूख हड़ताल खत्म नही करेंगे।

अब इसे सरकार या फिर एयर पोर्ट ऑथरिटी की दोहरा रवैया कहे या फिर उदासीनता की 58 परिवार के सैकड़ो महिलाएं पुरुष एवं बच्चे इस सर्दी में भूख हड़ताल पर बैठे हैं एवं प्रदर्शन कर रहे हैं। अब देखना होगा की सरकार एवं ऑथरिटी इन दलित परिवारों के तरफ कब देखती है जिससे इन्हें अपना आशियाना मिल सके।

भूख हड़ताल पे बैठे इन लोगो ने कहा है कि जब तक इनकी जमीन इनको नही मिलती है तब तक वो इसी तरह भूख हड़ताल पे बैठे रहेंगे ।

Leave a Reply