निर्भया की याद में स्थानिए BJP नेता हर साल निर्भया की आत्मा की शांती के लिए यहाँ कराते हवन

News Delhi


दिल्ली (राकेश सोनी ) 16 दिसंब 12 बार,, देश के ईतिहाँस में ये एक काला दिन है।,, 16 दिसंबर को निर्भया के साथ जो हैवानियत हुई.. उसे पुरा देश के लोगों की आँखें नम थीं। उसी निर्भया की याद में मुनिरका के बस स्टैण्ड पर स्थानिए BJP के नेता अनिल शर्मा नें हवन कर निर्भया के आत्मा के शांती के लिए प्रर्थना किया।,, लेकिन बस स्टैण्ड पर महिलाओं नें माना,, कि हालात आज भी जैसे का तैसा है। दिल्ली में आज भी महिलाएँ सुरक्षीत नहीं है।

देश की बेटी निर्भया,,, आज भले हीं हमारे बीच में नहीं,,, लेकिन उसकी यादें,,, और उसके साथ हुई वो हैवानियत आज भी हम सभी को याद है।,, 16 दिसंबर 2012 को मुनिरका के ईसी बस स्टैण्ड से निर्भया नें वो बस पकड़ा था,, जिस बस में उसके साथ हैवानियत हुई थी।,, निर्भया की याद नें स्थानिए BJP नेता हर साल निर्भया की आत्मा की शांती के लिए यहाँ हवन पूजन का कार्यक्रम रखते हैं।,, ईस साल भी 16 दिसंबर की सुबह उसी बस स्टैँण्ड पर दर्जोनें की संख्या में BJP के लोगों नें हवन पूजन किया। स्थानिए नेताओं का मानना है,, कि केजरिवाल सरकार नें दावा किया था,, कि दिल्ली में महिला सुरक्षा को लेकर कई कदम उठाए जाएंगे,, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ है।

सवाल ये है,, कि उतने बड़े घटना के बाद क्या सच में दिल्ली सुधरी है।,, क्या दिल्ली में महिलाएँ बेखौफ कहीं भी आ जा सकती हैं,, कुछ ईन्हीं सवालों के साथ हमलोग हवन के दौरान उसी बस स्टैण्ड पर कुछ महिलाओं से मिलें,, लेकिन उनका जवाब था,, सिधे – सिधे ना,,, यानी सरकार या कोई भी सिस्टम लाख दावे कर ले लेकिन जमिनी सच्चाई ये है,, कि दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा भगवान भरोसे है।,,, जब भी कोई बड़ी घटना होती है,, उस समय अचानक सारी अथॉरिटी,, जाग जाती है,, लेकिन धीरे-धीरे जैसे वक्त बितता,, वे लोग भी सो जाते हैं।,, दिल्ली में महिला सुरक्षा की सच्चाई क्या है,, आप सुनें खूद ईन महिलाओं से।
दिल्ली की हालत बिल्कुल भी नहींं सुधरी है,, जिसका सिधा सबूत है,,, ईसी बस स्टैण्ड से चंद किलोमिटर की दूरी पर एक बार फी एक लड़की से बलाक्तार हुआ है। साउथ कैंपस ईलाके की घटना,, ईस बात का सबूत है,, चाहे वक्त कितना भी बीत जाए,,, महिलाओं के सुरक्षा की गारंटी देनें वाला कोई नहीं है।

Leave a Reply