सेकेंड हैंड कार खरीदते वक्त ये गलती पड़ सकती है भारी, जरूर रखें ध्यान

0
6

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। भारत में इस समय सेकेंड हैंड कारों का मार्केट काफी बढ़ा होता जा रहा है और ऐसे में ग्राहकों को हर मॉडल की कारें आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं। अगर आप नई कार न खरीद कर ऐसे में सेकेंड हैंड कार खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो आज हम आपको उन बातों को बता रहे हैं, जिन्हें सेकेंड हैंड कार खरीदते वक्त हमेशा दिमाग में रखना चाहिए। सेकेंड हैंड कार खरीदना नई कार खरीदने के मुकाबले थोड़ा मुश्किल काम होता है, क्योंकि यहां आपको सभी फीचर्स, कार की बॉडी और इंजन आदि के बारे में खुद ही जांच करनी होती है।

बॉडी को ध्यान से देखें

सेकेंड हैंड कार खरीदते वक्त कार को बॉडी को ध्यान दे देख कर चेक करना चाहिए, क्योंकि कई बार डीलर पुरानी हो चुकी खराब कार को साफ दिखा कर सेल करते हैं तो ऐसे में आप कीमत तय करने से पहले कार को पूरी तरह से देख लीजिए और फिर तय कीजिए कि आपको यह कार चाहिए या नहीं चाहिए।

एक्सीडेंटल कार है या नहीं

कार खरीदने से पहले उसके बारे में पूरी तरह से जांच कर लें कि वह कार एक्सीडेंट है या नहीं अगर तो आप उसकी कीमत सही से तय कर सकते हैं, क्योंकि एक्सीडेंटल कार को डीलर डेंट-पेंट करके नया कर देते हैं और आसानी से पता लगाना मुश्किल हो जाता है।

इंटीरियर की जांच

कार को बाहर से देखने के अलावा उसके इंटीरियर की भी पूरी तरह से जांच करें यह देखें कि कार अंदर से टूटी हुई तो नहीं है और सभी तरह के फीचर्स जैसे म्यूजिक सिस्टम, लाइट्स, एसी, हॉर्न और पावर स्टीरियरिंग आदि समेच अन्य फीचर्स ठीक से काम कर रहे हैं या नहीं।

इंजन की जांच

कार के अन्य सभी फीचर्स के बारे में तो आप खुद जांच कर सकते हैं, लेकिन कार के इंजन की जांच करना सामान्य व्यक्ति के लिए मुश्किल होता है। सेकेंड हैंड कार खरीदते वक्त उसकी जांच के लिए आप अपने साथ किसी जानकार मैकेनिक को लेकर जा सकते हैं। इसके अलावा आप खुद ड्राइव करके देख सकते हैं और मैकेनिकर से भी चलवा कर देख सकते हैं।

कार के पेपर

कार को पूरी तरह से चेक करने के बाद उसको खरीदने से पहले उसके सभी पेपर्स के बारे में पूरी तरह से जांच कर लीजिए। जैसे कार की आरसी, इंश्योरेंस, Puc समेत अन्य जरूरी पेपर्स को ठीक से देखने के बाद ही कार को खरीदें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here